Corona Ka Asar-Hindi Poem on Corona

कोरोना का असर प्यार पर पड़ गया
और जुदाई का डर दिल में घर कर गया
इस कठिन काल में अब तो बैठे हैं घर
पर हमें इश्क़ से वो बेघर कर गया..

कोरोना का असर..

याद आती मुझे शामें कॉलेज की वो
संग पीते थे हम चाय कॉफी जो हो
अब तो पानी भी पीना गरम पड़ गया
कोरोना का असर…

हम उसे प्यार से बात कहते थे दो
करते वादे थे हम साथ देंगे जो हो
कल से दिन में बिजी उसका नम्बर गया
कोरोना का असर …

अब तो बातें भी होती हैं कैसी सुनो
Hi bye में हालत है जैसी सुनो
खाया क्या और वजन कितना है बढ़ गया
कोरोना का असर…

अब वो कहती है के तुमसे दिल भर गया…
कोरोना का असर….

©पराग पल्लव सिंह

Behind This Poem:
This Corona Virus Hindi poem is a funny compilation of the thoughts which comes to my mind when I think about my college life in normal days.
To listen this poetry, kindly visit my Instagram handle.

3 thoughts on “Corona Ka Asar-Hindi Poem on Corona”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.