Bhagwan Se Baatcheet

फलाँ हादसे में xxx मजदूरों की मौत। बस इस तरह खबर बदल रही है। न आप बदल रहे, न हालात बाद रहे और न ही हम। पढ़िए ऐसी ही एक कविता "भगवान से बातचीत"।

Aurangabad Train Accident

हम न बचे पर शायद हमने मौत तुम्हारी गले लगाई.... जरा सोचिये ! पल भर को कल्पना कीजिये !खुद को उस मजदूर की जगह पर रख कर देखिये! To find more, read this

Quarantined Zindagi | Lockdown Hindi Poem

आज कुछ सुकून है शांति थोड़ी ज्यादा है गाड़ियों का धुआँ कम है सड़क पर सन्नाटा ज्यादा है... To read full poem on Quarantined Life, Do check the poem

Corona Ka Asar-Hindi Poem on Corona

कोरोना का असर प्यार पर पड़ गया और जुदाई का डर दिल में घर कर गया इस कठिन काल में अब तो बैठे हैं घर पर हमें इश्क़ से वो बेघर कर गया.. -By Parag Pallav Singh